*सुख और दुख दोनों परिस्थितियों में खुश रहना चाहिए- राज्यगुरु महाराज*

0
28

=========================

*सत्यसंग फ्रिज के समान है, इसमें आदमी खराब नहीं होता*

=========================

चंद्रपुर /दुर्गापुर- श्रीलखमापुर हनुमान मंदिर सेवा समिति तथा श्रीजलाराम सेवा मंडल चंद्रपुर के संयुक्त तत्वावधान में श्रीलखमापुर मंदिर में हो रहा श्रीराम कथा का शनिवार को अष्टम दिन था। कथाकार नरेशभाई राज्यगुरु ने कहा कि हम भाग्यशाली है कि भगवान हमें मनुष्य बनाया। ऐसा सोचकर कि यह भी समय चला जाएगा, सुख में भी प्रसन्न रहना चाहिए और दुख में भी खुश रहना चाहिए। काशीनगर महादेव के त्रिशूल पर खड़ा है।

======================

कथाकार राज्यगुरु बताते है कि किसी को भगवान का नाम मात्र दर्शन हो जाए तो वह खुशी से झूम उठता है। जिनके रथ को स्वयं भगवान सारथी बनकर चलाए, उस अर्जुन को कितना प्रसन्नता हुई होगी। दीपक का प्रज्वलित ज्योत हमेशा ऊपर की ओर जाता है क्योकि उसमें सत्यता होती है। भगवान के चरण मिल जाए तो आदमी भाव सागर को पार हो जाता है। व्यक्ति के चेहरा पर नहीं अपितु उसके आचरण पर पहचाना जाना चाहिए।
व्यासपीठ पर आसीन महाराज ने बताया कि जिस प्रकार से फ्रिज में रखा सब्जी खराब नहीं होता उसी प्रकार सत्संग एक ऐसा फ्रिज है, जहाँ कोई मानव खराब नहीं होता है। भाव से पूजा करो तो काष्ठ और पत्थर में भी भगवत दर्शन होता है।
भगवान सर्वत्र है, परन्तु मंदिर में हजारों लोंग दर्शन करते हैं इस कारण वहाँ हजारों मन्त्रोंचारण से ज्यादा भावना प्रबल हो जाती है। भक्ति का स्वरूप सेवा है।
श्रीराम लक्ष्मण सीता 13 वर्षों तक चित्रकूट में ठहरें। भौतिकता सुख देता है और आध्यात्मिकता शांति प्रदान करती है। कथाकार कहते है कि जीवन में कष्ट आये तो समझना कि भगवान अपने ऊपर कुछ कृपा करने वाले हैं। यह हमारी परीक्षा का समय होता है।
सभी लोंग सभी काम नहीं कर सकते थे। इसलिए वर्ण व्यवस्था बना था। वर्ण व्यवस्था के तहत सब को अलग-अलग काम का बंटवारा हुआ। राज्यगुरु कहते हैं कि पिता की आज्ञा का पालन करना पुत्र की जिम्मेदारी है। व्यक्ति की नही, व्यक्तित्व की पूजा होना चाहिए। कार्यक्रम में भागवताचार्ज मनीष महाराज, जिलाधिकारी गौड़ और पुलिस अधीक्षक परदेशी पहुँचे। गणमान्यों को स्वागत किया गया।
======================-
राम लक्ष्मण हनुमान की झांकी
रामकथा के दौरान रामेश्वर प्रसंग के अवसर पर राम लक्ष्मण और हनुमान की झांकी निकाली गई। राम लक्ष्मण द्वारा शिवलिंग का स्थापना और पूजा किया गया। इस अवसर पर श्रद्धालुओं खूब झूमें। बड़ी संख्याओं श्रद्धालुओं की उपस्थिति थी।
====================
भव्य महाप्रसाद का हुआ आयोजन

======≠================

नौ दिनों की कथा समाप्ति के बाद रविवार के दोपहर से भव्य महाप्रसाद का आयोजन हुआ। जिसमें हजारों श्रद्धालुओं ने महाप्रसाद ग्रहण किया।

============================

*”हँलो चांदा न्यूज “, करिता जिल्हा प्रतिनिधी, राजूरा गढ़ चांदूर तालुका प्रतिनिधींची नियुक्ती करणे आहे. इच्छुक प्रतिनिधीने संपर्क साधावा.*

==========================

संपादक :- शशि ठक्कर , 9881277793
उपसंपादक:- विनोद शर्मा , वरोरा। 9422168069

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here