*देश की सत्ताधारी पार्टी छाेड के सभी राष्ट्रीय दल बैलेट पेपर से चुनाव के पक्ष दिखे !*

0
34

====================

न्यूज़ एडिटिंग निलेश ठाकरे. 9371321070. 

=====================

चुनाव प्रक्रिया को लेकर बैठक में चर्चा करते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त उठाए जाने जरूरी है।

===================

बूथ कैप्चरिंग का खतरा रावत

=====================

कुछ पार्टियों का कहना है कि बैलट पेपर से की व्यवस्था पर लौटने से कैप्चरिंग का दौर लोट आएगा। यहीं कुछ दलों को ईवीएम के जरिये चुनाव चुनाव से परेशानी है। सभी दलों के सुझावों पर विचार कर संतोषजनक समाधान निकाला जाएगा ओपी रावत, मुख्य चुनाव आयुक्त=

==========÷÷======

की मदद से जांच की सुविधा मिलनी चाहिए। चुनावी खर्च की सीमा तय आम आदमी पार्टी के राघव चड्ढा ने कहा कि पार्टी बैलट पेपर से चुनाव के पक्ष में है, लेकिन आयोग लोकसभा चुनाव 2019 में मौजूदा ईवीएम व्यवस्था को बदलने से इनकार कर चुका है। ऐसे में आप का कहना है कि कम से कम 20 फीसदी वोटों का वीवीपेट मिलान होना चाहिए। भाजपा की ओर से स्वास्थ्य मंत्री जेपी ना ने ईवीएम की वकालत की।

करने के खिलाफ भाजपा आपका कहना है कि आयोग को चुनाब खर्च की सीमा तय करने के बजाय पारदर्शिता बढ़ाने पर जोर देना चाहिए भाजपा महासचिव भूपेंद्र यादव ने कहा कि राजनीतिक दलों के सिसी अभियान एजेंडा होते हैं। अगर इन पर किसी तरह को रोक लगाई जाती है और व्यक्ति आधारित राजनीति

======÷========÷

70% दल बैलट के साथ कांग्रेस

===============

करीब 70 फीसदी दलों ने बैठक में बैलट पेपर से चुनाव कराने की मांग की। इस मामले में भाजपा अलग-थलग पड़ गई। विपक्षी दलों ने विकल्प के तौर पर कम से कम 30 फीसदी पोलिंग बूथ पर पेट की व्यवस्था की भांग की चुनाव में अनियमित खर्च पर अंकुश लगाने की अभिषेक मनु सिंघवी,

मतदाता सूची आधार से जोड़ने की मांग

बैठक में भाजपा समेत कुछ दलों ने फर्जी नामों को हटाने के लिए मतदाता सूची को आधार नंबर से जोड़ने की मांग की। चुनाव आयोग ने 25 फीसदी दलों ने यह मांग की। भाजपा कहा कि मतदाता सूची को अल्फाबेटिकल ऑर्डर में रखने के लिए तत्काल कदम

===========÷==÷÷÷======

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने बाद दावा किया कि सपा, बसपा, राकांपा, आप, जदरस, माकपा और भाकपा समेत 70 फीसदी दलों ने बैठक में बैलट पेपर से कराए जाने की मांग की। इस मामले में भाजपा अलग-थलग पड़ गई। विपक्षी दलों ने विकल्प के तौर पर कम से कम 30 फीसदी पोलिंग बूथ पर बीपेट की व्यवस्था की मांग की। बसरा के सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि बैलट पेपर से हो चुनाव कराए जाने चाहिए। लोकतांत्रिक जनता दल के मुखिया शरद यादव ने एलान किया कि यह योबाट पर सुप्रीम कोर्ट का फैसले लागू कराने के लिए दिल्ली में वोट बचाओ, देश बचाओ रैली करेंगे। सपा नेता रामगोपाल यादव ने कहा कि फिलहाल बैलट पेपर से चुनाव कराना संभव नहीं है। इसलिए जहाँ संदेह हो वहां वोट.

===========÷÷÷=========

नई दिल्ली। चुनाव आयोग और देश भर के प्रमुख दलों की सर्वदलीय बैठक में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) या बैलट पेपर से चुनाव कराने का मुद्दा छाया रहा। सोमवार को हुई बैठक में भाजपा की छोड़कर सभी छह राष्ट्रीय पार्टियों कांग्रेस बसपा, माकपा, भाकपा, तृणमूल कांग्रेस राकापा ने बैलट पेपर से चुनाव कराने की मांग की। वहीं, राजग में सहयोगी शिवसेना ने भाजपा को झटका देते हुए बैलट पेपर का समर्थन किया। एक देश, एक चुनाव के मुद्दे पर भी पार्टियों में एकजुटता नहीं

==========================

*”हँलो चांदा न्यूज “, करिता जिल्हा प्रतिनिधी, राजूरा गढ़चंदूर तालुका प्रतिनिधींची नियुक्ती करणे आहे. इच्छुक प्रतिनिधीने संपर्क साधावा.*  

=======================

संपादक :- शशी ठक्कर 9881277793

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here